स्टीफन हॉकिंग – महान भौतिक विज्ञानी

मशहूर साइंटिस्ट स्टीफन हॉकिंग ने विज्ञान क्षेत्र में काफी योगदान दिया है. ये आधुनिक युग के सर्वाधिक प्रसिद्ध वैज्ञानिकों में से एक थे.

  •  उनका जन्म 8 जनवरी, 1942 को ऑक्सफ़ोर्ड के ऑक्सफ़ोर्डशर में हुआ था ! उनके पिता का नाम फ्रैंक था . 
  • हॉकिंग की दो छोटी बहनें फिलिपा और मेरी उनका एक दत्तक लिया हुआ भाई जिसका नाम ऐडवर्ड है.
  • हॉकिंग की   माता का नाम इसोबेल था।
  • Stephen Hawking का (14 -03 – 2018) देहांत हो गया.
  • पत्नी का नाम  – जेन वाइल्ड(साल 1965-1995), ऐलेन मेसन(साल 1995-2016)  था।

बचपन से ही स्टीफन गणित विषय में गहरी रूचि थी ,लेकिन उनके पिता उन्हें डॉक्टर बनाना चाहते थे ।खैर उस समय गणित विषय न होने के कारण उन्होंने आगे की पढाई भौतिकी विषय लेकर शुरू की ! उन्होंने अपनी पी.एच.डी के लिए ऑक्सफ़ोर्ड यूनिवर्सिटी की परीक्षा पास की और अपनी आगे की पढाई शुरू की।हॉकिंग के पिता चाहते थे वे जीव विज्ञान की पढ़ाई करें। पर उन्हें गणित में रूचि थी। स्टीफन हॉकिंग जब 21 साल के थे, तो सीढियों से उतरते हुए बेहोश होकर नीचे गिर पड़े। उसी दौरान उनके शरीर में कुछ विशेष बदलाव देखने को मिले। जब उनकी गम्‍भीर जांच की गयी
वो एक अनजान और कभी न ठीक होने वाली बीमारी से ग्रस्त है जिसका नाम है Amyotrophic Lateral Sclerosis (ALS) । इस बीमारी में शारीर के सारे अंग धीरे धीरे काम करना बंद कर देते है।

स्टीफन हॉकिंग जब 21 साल के थे, तो सीढियों से उतरते हुए बेहोश होकर नीचे गिर पड़े। उसी दौरान उनके शरीर में कुछ विशेष बदलाव देखने को मिले। जब उनकी गम्‍भीर जांच की गयी
वो एक अनजान और कभी न ठीक होने वाली बीमारी से ग्रस्त है जिसका नाम है Amyotrophic Lateral Sclerosis (ALS) । इस बीमारी में शारीर के सारे अंग धीरे धीरे काम करना बंद कर देते है। उनका बोलना-चलना बंद हो गया, और वह खुद को हिलाने में असमर्थ हो गये। एक स्तर पर, डॉक्टरों ने उन्हें तीन साल का जीवन काल दे दिया था। लेकिन बीमारी के दौरान उन्हें लगने लगा कि वे अब जिंदा नहीं रहेंगे जिसके बाद उन्होंने अपना सारा ध्यान रिसर्च पर लगा दिया. हॉकिंग ने ब्लैक हॉल्स पर रिसर्च किया है.
स्टीफन हॉकिंग ने ब्लैक होल और बिग बैंग सिद्धांत को समझने में अहम योगदान दिया।
हॉकिंग का IQ 160 है जो किसी जीनियस से भी कहीं ज्यादाहै। 2007 में उन्होंने अंतरिक्ष की सैर भी की । जिसमे वो शारीरिक तौर पे “फिट “ पाए गए।

स्टीफन हॉकिंग को यूं तो एक दर्जन से अधिक पुरसकार/सम्‍मान प्राप्‍त हुए, जिनमें रॉयल सोसाइटी मेडल (1976), अल्‍बर्ट आइंस्‍टाइन मेडल (1979), आर्डर ऑफ द ब्रिटिश एंपायर (1982), भौतिकी का वुल्‍फ अवार्ड (1988), प्रिंस ऑफ आस्ट्रियन अवार्ड (1989), अमेरिकी फिजिक्‍स सोसाइटी का जूलियस एडगर लिनिफील्‍ड अवार्ड (1999) और अमेरिका का सर्वोच्‍च नागरिक सम्‍मान राष्‍ट्रपति पदक (2009) प्रमुख हैं।

इस महान वैज्ञान‍िक के वो कथन जो जिंदगी को लेकर  थे

  • अगली बार जब आपको कोई यह कहे कि आपने गलती की है तो उससे कहें कि गलती करना अच्छी बात हो सकती है क्योंकि बिना गलतियों के न तो तुम और न मैं ही जिंदा रह सकता हूं.
  • अपने बच्चों को स्टीफन ने टिप्स देते हुए कहा – पहली बात तो यह है कि हमेशा सितारों की ओर देखो न कि अपने पैरों की ओर. दूसरी बात कि कभी भी काम करना नहीं छोड़ो, कोई काम आपको जीने का एक मकसद देता है. बिना काम के जिंदगी खाली लगने लगती है. तीसरी बात यह कि अगर आप खुशकिस्मत हुए और जिंदगी में आपको आपका प्यार मिल गया तो कभी भी इसे अपनी जिंदगी से बाहर मत फेंकना.
  • मैं एक ऐसा बच्चा हूं जो कभी बड़ा नहीं हो पाया. मैं अभी भी ‘कैसे’ ‘क्यों’ का सवाल करता हूं.
  • मनुष्य की सबसे बड़ी सफलताएं बात करने से हासिल हुई हैं और सबसे ज्यादा विफलता नहीं बात करने से हुई है. हम लोगों को हमेशा बात करते रहने की जरूरत है.
  • प्रोफेसर स्टीफन हॉकिंग ने ब्रह्मांड को नियंत्रित करने वाले बुनियादी लॉ पर कई शोध किए हैं. हॉकिंग ने अपने साथी रोजर पेनरोस के साथ मिलकर एक शोध किया था और दुनिया को बताया था अंतरिक्ष और समय, ब्रह्मांड के जन्म के साथ शुरू हुए हैं और ब्लैक होल के भीतर समाप्त होंगे.
  • इसके अलावा हॉकिंग ने ये भी प्रस्ताव किया था कि ब्रह्मांड की कोई सीमा नहीं है और विज्ञान की मदद से ये भी पता किया जा सकता है कि ब्रह्माण्ड की शुरूआत कब हुई थी और कैसे हुई थी.

Stephen Hawking Books

  1.     ए ब्रीफ हिस्ट्री ऑफ टाइम
  2.     द यूनिवर्स इन ए नटशेल
  3.     द ग्रैंड डिज़ाइन
  4.     ब्लैक होल और बेबी यूनिवर्स

साल 2014 में इन पर एक मूवी बनाई गई, जिसका नाम नाम द थ्योरी ऑफ एवरीथिंग हैं . इस फिल्म में उनकी जिंदगी के संघर्ष को दिखाया गया था और बताया गया था कि किस तरह से इन्होंने अपने सपनों के पूरा किया था.

by – Akash